आखिर क्यों मीडिया के सामने फफक कर रो पड़े थे, राकेश टिकैत की जुबानी जानिए

आखिर क्यों मीडिया के सामने फफक कर रो पड़े थे, राकेश टिकैत की जुबानी जानिए

पुलिस डंडे मारकर हटा देती हम हट जाते : टिकैत (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) गाज़ीपुर बॉर्डर पर किसानों के साथ कानून के खिलाफ डटे हुए हैं. राकेश टिकैत कृषि कानूनों को लेकर अपनी मांग पर अड़े रहे और उन्होंने भावुक होकर दो टूक कहा कि वह आत्महत्या कर लेंगे, लेकिन आंदोलन समाप्त नहीं करेंगे. उनके रोने का वीडियो भी सामने आया. टिकैत के आंसू ने आंदोलन को फिर से रफ्तार दे दी और भारी संख्या में किसान गाजीपुर बॉर्डर पहुंच रहे हैं. राकेश टिकैत की जुबानी सुनिए कि आखिरकार वह क्यों रोये? 

यह भी पढ़ें

राकेश टिकैत ने कहा कि हमारे खिलाफ… किसानों के खिलाफ षड्यंत्र था. पुलिस को हटाना था डंडेमार कर हमें हटा देती हम हट जाते, लेकिन पुलिस पीछे और गुंडा आगे. किसान इतना कमजोर नहीं है. उन्होंने कहा कि जिस बीजेपी के विधायक ने किसानों को फांसी देने की मांग थी उनकी सोच है कि उन्हें राज्यसभा मिल जाए. 

किसान नेता टिकैत ने कहा कि पंचायत के बाद काफी लोग आ रहे हैं, लेकिन हमने यहां आने को किसी को नहीं कहा. प्रशासन का अभी सहयोग मिल रहा है. सरकार के साथ बातचीत हो सकती है, बिना सरकार के साथ बातचीत के कोई मांग हमारी पूरी हो सकती है क्या?

Newsbeep

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *