किसानों के समर्थन में अहिंसा सर्किल पर बैठकर कांग्रेस सेवादल ने किया एक दिन का उपवास

  • Hindi News
  • National
  • Congress Seva Dal Fasting For A Day In Support Of Farmers Sitting On Non violence Circle

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सीकर7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

किसानों के समर्थन में एक बार फिर कांग्रेस सेवादल सक्रिय हो रहा है। दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के बाद संगठन सरकार के कदम का इंतजार कर रहा था। इसके बाद अहिंसा सर्किल पर जमा होकर कार्यकर्ताओं ने महात्मा गांधी के निर्वाण दिवस पर एक दिन का उपवास किया।

जिलाध्यक्ष नरेन्द्र बाटड़ ने बताया कि ​भाजपानीत केंद्र सरकार किसान बिल को वापस लेने की बजाय मुकदमें और ताकत के जरिए चल रहे किसान आंदोलन को कुचलने में जुटी हुई है। ऐसा पहली दफा है कि मांगने वाले इनकार कर रहे ​हैं, जबकि देने वाला जबरन देने पर उतारू है। यहां तक की इसके लिए किसान पिछले 65 दिन से आंदोलन कर रहे है।

किसानों के चल रहे आंदोलन को देखते हुए कांग्रेस सेवादल एकबार फिर से गांव गांव ढाणी ढाणी जाएगा और किसानों को काले कानून के बारे मे विस्तार से बताएगा। बिल में एमएसपी को लागू करने, बिल मे व्यापारी कंपनी के लिए सभी खाद्यान्न को अनलिमिटेड स्टाॅक रखने की व्यवस्था कर दी इससे बड़े स्तर पर कालाबाजारी होगी। इस बिल मे किसान व कंपनी मे विवाद होने पर किसान सिविल न्यायालय नही जा सकता,इस बिल के कारण किसान मंडी व्यवस्था खत्म होने की व्यवस्था हो जायगी। एक दिन के उपवास के सीकर के ब्लॉक सेवादल के सीकर ब्लॉक अध्यक्ष रविकान्त तिवाङी, लक्ष्मणगढ के बुन्दु खान, राजास,नेछवा के ब्लाॅक अध्यक्ष नन्दु सिंह शेखावत,अजीतगढ के मोहनलाल बुनकर, खंडेला के गोकुल मांडिया, पीपराली के ब्लॉक अध्यक्ष अनिल कुमावत शामिल रहे।

वहीं गजानन्द यादव,आनन्द चौहान, बर्मन सिहाग, मदनलाल चिरानियां,जयप्रकाश शर्मा,गोविंद जेदिया,इदरीश चौहान, ओमप्रकाश पंवार, शिवम पारीक, प्रदीप वाल्मिकी, हैदर अली पायलट, दिनेश शर्मा बठोठ, पंचायत समिति सदस्य राकेश वर्मा, कुलदीप आजाद, राधेश्याम पुरोहित, शंकर वर्मा, श्रवण माधोपुरा, महावीर जांगीङ, हरिश कुमार, सुरेश पारीक, मोहम्मद फारुख टार्जन, सुरेश पारीक, मोहम्मद वकील सांखला, आबिद अली टेन्ट हाउस, एडवोकेट सुरेश भास्कर, ओंकरमल कलवानियां, बिरदीचन्द जांगीङ, संजय सफल, त्रिलोक सिंह सहित काफी सेवादल के कार्येकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *