सर्वदलीय बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, किसानों को कृषि मंत्री द्वारा दिया ऑफर अभी भी है.

सर्वदलीय बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, किसानों को कृषि मंत्री द्वारा दिया ऑफर अभी भी है.

सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने कहा- सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार

खास बातें

  • सर्वदलीय बैठक में पीएम ने की सभी मुद्दों पर चर्चा की बात
  • ये भी कहा- सरकार किसानों से बातचीत को तैयार है
  • कृषि मंत्री द्वारा किसानों को दिया गया ऑफर अभी भी है

सर्वदलीय बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बजट सत्र में सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है. सभी पार्टियों को बोलने का मौका मिलेगा. दरअसल, संसद में किसान आंदोलन और कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष ने राष्ट्रपति के अभिभाषण का बायकॉट किया था. इसके बाद सरकार ने सर्वदलीय बैठक की.  सूत्रों के मुताबिक- इस बैठक में पीएम ने कहा कि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के द्वारा किसानों को दिया गया ऑफर अभी भी है. सरकार किसानों से बातचीत करने को तैयार है. 

यह भी पढ़ें

बता दें कि संसद का बजट सत्र (Budget Session 2021) शुक्रवार से शुरू हो गया है. 1 फरवरी को आम बजट (Union Budget 2021) पेश किया जाएगा. जैसा कि माना जा रहा था कि किसान आंदोलन (Farmers Protest) को लेकर बजट सत्र में हंगामा हो सकता है, पहले दिन कई विपक्षी दलों ने संसद परिसर में केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया. बजट सत्र को लेकर सभी पार्टियों के सदन के नेताओं के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी, संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुन मेघवाल और वी मुरलीधरन इस समय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग कर रहे हैं.

Newsbeep

इस मीटिंग में बजट सत्र सुचारु रूप से चले और राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा में सभी विपक्षी दल भाग लें, पर बातचीत हो रही है. सरकार की तरफ से सभी विपक्षी दलों को आश्वस्त किया गया है कि सरकार कृषि संबंधी कानूनों समेत सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है.

गौरतलब है कि कल 20 विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार किया था इसलिए सरकार की कोशिश है कि बजट सत्र में हंगामा न हो. लोकसभा स्‍पीकर ओम बिरला (Om birla) ने शुक्रवार को सभी दलों के साथ मीटिंग में कहा, ‘सबसे अपेक्षा है कि सदन सुचारू रूप से चले, व्यवस्थित चले और सभी संसद की मर्यादा को न भूलें. जो भी मुद्दे रखना चाहेगा, उसे पर्याप्त अवसर दिया जाएगा. सभी दलों से आग्रह किया गया है कि संसद की मर्यादा को बनाए रखें. सभी ने आश्वासन दिया है. मैंने सभी राजनीतिक दलों से यह आग्रह किया है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *