PM मोदी ने टीम इंडिया की जीत का उदाहरण दे ‘आत्मनिर्भर भारत’ का पढ़ाया पाठ, बोले- पॉजिटिव रखें सोच

PM मोदी ने टीम इंडिया की जीत का उदाहरण दे 'आत्मनिर्भर भारत' का पढ़ाया पाठ, बोले- पॉजिटिव रखें सोच

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम के तेजपुर विश्वविद्यालय के 18वें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा है कि आने वाले समय में यूनिवर्सिटीज वर्चुअल हो सकती हैं.

खास बातें

  • पीएम मोदी ने तेजपुर यूनिवर्सिटी के 18वें दीक्षांत समारोह को किया संबोधित
  • युवाओं को पढ़ाया आत्मनिर्भर भारत का पाठ, बोले- हमेशा रखें पॉजिटिव सोच
  • टीम इंडिया की खराब परिस्थितियों में भी आस्ट्रेलिया में जीत का दिया उदाहरण

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने असम के तेजपुर विश्वविद्यालय (Tezpur University) के 18वें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा है कि आने वाले समय में यूनिवर्सिटीज वर्चुअल हो सकती हैं. नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत पर भी जोर दिया और कहा कि कोरोना महामारी ने हमें इसका पाठ पढ़ाया है.

यह भी पढ़ें

पीएम ने कहा कि महामारी की शुरुआत में लोग आशंकित थे कि क्या होगा, लेकिन देश ने लचीलापन दिखाया, हमने सक्रिय निर्णय लिया. हमने कोविड के खिलाफ प्रभावी वैक्सीन निकालकर इसका हल निकाला है. पीएम ने कहा, हमारे टीके हमारे वैज्ञानिकों पर विश्वास का जीता जागता उदाहरण हैं. पीएम ने कहा कि हम डिजिटल समावेशन में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले देशों में एक हैं. पीएम ने बैंकिंग समावेश पर भी जोर दिया.

23 जनवरी को ‘पराक्रम दिवस’ समारोह में हिस्सा लेने कोलकाता जाएंगे पीएम मोदी, ये है पूरा कार्यक्रम

प्रधानमंत्री ने भारतीय क्रिकेट टीम की ऑस्ट्रेलिया पर जीत की सराहना की और कहा कि सकारात्मक सोच सकारात्मक परिणामों की ओर ले जाती है और यही आत्मनिर्भर भारत का मूल है. टीम इंडिया की ऐतिहासिक टेस्ट क्रिकेट जीत से प्रेरणा लेने के लिए देश के युवाओं से आग्रह करते हुए, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत भले ही कम अनुभवी हो, फिर भी हमें चुनौतियों का सामना करना चाहिए, जैसा कि हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के गाबा में भारतीय क्रिकेट टीम ने कर दिखाया था.

पीएम ने कहा कि देश की आजादी के 100 वर्ष पूरे होने तक देश का स्वर्णिम काल है और इसमें युवाओं के 20-25 वर्षों की आयु का काल भी शामिल है. पीएम ने युवाओं को याद दिलाया कि 100 साल पहले के युवा देश के लिए क्या करते थे. पीएम ने कहा कि अभी के युवाओं को भी देश और पूर्वोत्तर को विकास की नई उंचाइयों पर ले जाने के लिए आगे आना चाहिए. पीएम ने देश में बढ़ती आधारभूत संरचनाओं का भरपूर फायदा उठाने का आह्वान युवाओं से किया.

‘क्रिकेट पिच पर भले ही प्रतिस्पर्धी लेकिन असल में हम साझीदार’, आस्ट्रेलियाई PM से बोले नरेंद्र मोदी

Newsbeep

पीएम ने यूनिवर्सिटी के इनोवेशन सेंटर की तारीफ करते हुए लोगों से वोकल फोर लोकल के लिए आगे आने को कहा. पीएम ने यूनिवर्सिटी द्वारा पीने के पानी को साफ करने की तकनीक विकसित करने की भी चर्चा की और उसे देश के अलग-अलग हिस्सों तक पहुंचाने की अपील की. पीएम ने यूनिवर्सिटी द्वारा कचड़ा प्रबंधन के तकनीकी की भी तारीफ की.

समारोह में 2020 में पास होने वाले 1,218 छात्रों को डिग्री और डिप्लोमा प्रदान किए गए. विभिन्न स्नातक और स्नातकोत्तर कार्यक्रमों के 48 टॉपरों को स्वर्ण पदक से भी सम्मानित किया गया. इस मौके पर असम के राज्यपाल जगदीश मुखी, केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ और असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भी मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *