झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बांग्लादेश से रेमडेसिविर की आयात के लिए केंद्र से मांगी अनुमति

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बांग्लादेश से रेमडेसिविर की आयात के लिए केंद्र से मांगी अनुमति

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रेमडेसिविर के लिए बांग्लादेश की दवा कंपनियों से संपर्क साधा.

नई दिल्ली:

एक तरफ जहां देश में कोविड-19 संक्रमण (Coronavirus) के मामले रोजाना नए रिकॉर्ड बना रहे हैं तो दूसरी ओर देश के ज्यादातर राज्य कोरोना की लड़ाई में अहम भूमिका निभाने वाले ऑक्सीजन सिलेंडर, कोविड-19 बेड, रेमडेसिविर (Remdesivir) और वैक्सीन जैसी चीजों की किल्लतों का सामना रह रहे हैं. इस बीच झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ( Chief Minister Hemant Soren) ने रेमडेसिविर (Remdesivir) की कमी को पूरा करने के लिए बांग्लादेश की दवा कंपनियों से संपर्क साधा है और केन्द्र सरकार से आयात की अनुमति मांगी है. इसे लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने केंद्रीय मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा को पत्र लिया है. इसकी जानकारी उन्होंने ट्वीट कर दी है.

यह भी पढ़ें

Remdisivir की किल्लत हुई, ऑक्सीजन बेड बढ़ाने की कोशिश जारी है : NDTV Solutions Summit में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

मुख्यमंत्री सोरेन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि झारखंड में गंभीर रोगियों के लिए बढ़ती रेमडेसिविर की मांग और इसकी कमी पूरा करने के लिए, हमने इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए करीब 50,000 शीशियों को खरीदने के लिए बांग्लादेश में दवा कंपनियों से संपर्क साधा है. मैंने जल्द से जल्द आयात की अनुमति के लिए केंद्रीय मंत्री डीवी सादानंद गौड़ा जी को पत्र लिखा है.

रविवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने ने कोरोना से बेकाबू होते हालात पर  NDTV Solutions Summit में  कहा कि झारखंड में भी हालात ऐसे ही है. लोग डरे हुए हैं. नोर्मल लक्षण वाले भी अस्पताल में ट्रीटमेंट चाहते हैं. लोग अस्पताल से निकलना नहीं चाहते. इससे अस्पतालों में सिचुएशन खराब होती जा रही है. लोगों को जबरदस्ती बाहर भी निकाला नहीं जा सकता है.  रेमडेसिविर दवा का संकट हो रहा है. मेडिकल ऑक्सीजन की भी कमी हो रही है. कमर्शियल सिलेंडरों के लिए कोशिश जारी है. केंद्र को रेमडेसिविर की कमी के बारे में बता दिया है.

हेमंत सोरेन ने ये भी कहा कि मार्केट में लोगों का हुजूम, त्योहारों में इकट्ठा होना और राजनीति कार्यक्रम देखकर बहुत अजीब लग रहा है. बहुत से लोग सावधानियां नहीं बरत रहे. मास्क नहीं पहन रहे. युवाओं से भी कहना चाहूंगा कि ये ऐसा संक्रमण है, जिससे बचाव हमारे हाथों में है. सभी लोगों को नियमों का पालन करना चाहिए. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें. पूरे शहर में जॉम्बी घूम रहा है, ये सोचकर चलें. बिना जरूरत के घर से बाहर न निकलें. खुद भी सुरक्षित रहें और दूसरों को भी रखें.   

हेमंत सोरेन से बातचीत के मुख्य अंश-
– हमने 400-500 बेड्स का इंतजाम कर रहे हैं.
-100 से अधिक ICU बेड्स का इंतजाम कर रहे हैं.
– रोजाना 30 हजार लोगों की टेस्टिंग हो रही है.
– कोल इंडिया के सभी अस्पतालों को जोड़ रहे हैं.
-स्टेट बोर्ड की परीक्षाएं कैंसिल की हैं.
-मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने का इंतजाम कर रहे हैं.
– पिछले लॉकडाउन से सबक लिया, आधे दिन की गतिविधियां करने को लेकर विचार कर रहे.

झारखंड में कोरोना वायरस संक्रमण के 3198 नए मामले, 31 मरीजों की मौत

झारखंड में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से 50 मरीजों की मौत हो गई जिन्हें मिलाकर राज्य में महामारी से जान गंवाने वालों की कुल संख्या बढ़कर 1,456 हो गई है. वहीं, इस अवधि में संक्रमण के 3,992 नए मामले आने से राज्य में अबतक कुल 1,62,945 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा रविवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार राज्य में अबतक संक्रमित पाए गए 1,62,945 मरीजों से 1,33,479 मरीज ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं.
 

Video : सीएम हेमंत सोरेन ने कहा, कोरोना से बचाव के लिए कॉमन मैसेज देने की जरूरत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *